What is TDS in Hindi | TDS क्या है? इसके फायदे व दरें




What is TDS in Hindi

TDS का नाम तो सभी ने सुना होगा लेकिन इसके बारे में भरपूर जानकारी शायद सभी के पास ना हो। TDS सही मायनो में एक तरह का टैक्स होता है जिसे देना हर उस नागरिक का हक़ या काम होता है जो हर महीने पैसे कमाते है। इस टैक्स के कुछ कानून होते है। यह टैक्स सभी लोगो को नहीं देना पड़ता इसके लिए हमारी सरकार ने कुछ नियम बनाये है जो बाद में चलकर हमारे लिए ही फायदेमंद होते है। TDS को देने का कोई तरीका होता है उसी के अनुसार इस टैक्स का भुगतान किया जाता है। जिस भी व्यक्ति को इसे देने के लिए बोला जाता है उसे यह देना अनिवार्य होता है।

TDS क्या है?

TDS का मतलब है टैक्स डेडक्टेड एट सोर्स। यह टैक्स हर एक उस व्यक्ति को देना होता है जो किसी ना किसी के जरिये पैसे कमाता है। हर व्यक्ति की इसे भरने की दरे अलग होती है लेकिन देना यह सभी को पड़ता है। आयकरो के नियम में अनुसार 1961 के तहत भारत के सभी अधिकारियो को यह टैक्स देना अनिवार्य होता है। इस टैक्स को जमा करने की जिम्मेदारी सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ डायरेक्ट टैक्सेज की है। सारे टैक्स को यही लोग अपने पास जमा करते है और आगे की सरकार की प्रक्रिया इन्ही के बाद होती है। अगर आप किसी सरकारी संसथान या अन्य सरकारी जगह से लेन देन करते है तब भी आपको यह टैक्स देना पड़ता है। इस टैक्स को देना अनिवार्य होता है।

TDS के बारे में कुछ अहम बातें

  1. हर एक व्यक्ति की आमदनी अलग होती है उसी के अनुसार हर एक व्यक्ति की इस टैक्स को भरने की दरे बिलकुल अलग होती है। जैसे की अगर आपका कोई फिक्स डिपाजिट है और उसपर आपकी ब्याज की दर 10 हज़ार से अधिक है तो उसपर 10 फीसदी की दर के अनुसार आपका TDS काटा जाएगा। यह हर एक व्यक्ति और हर एक कार्य के लिए अलग होता है।
  2. अगर आप टैक्स भरने के दायरे में आते है तो आपको यह TDS जरूर भरना पड़ता है। अगर कभी ऐसा हुआ है की आपका TDS नहीं कटा तो आप ये ना सोचे की वो दोबारा भी नहीं कटेगा। TDS दरो के हिसाब से हमेशा काटा जाता है।
  3. टैक्स की चोरी करना एक बहुत बड़ा जुर्म है। अगर आप किसी भी तरह से टैक्स की चोरी करते है और किसी दिन आप पकड़े गए तो आपको कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाएगी और हो सकता है उसका भुगतान आपको ज़िन्दगी भर करना पड़े। तो हो सके तो किसी भी तरह से टैक्स की चोरी ना करे।

TDS के फायदे

  1. TDS के वैसे तो सभी फायदे बाद में हमे ही होते है लेकिन इसका सबसे बड़ा फायदा यह है की जिन लोगो की कमाई ज्यादा है वो लोग टैक्स को चोरी नहीं कर पाएंगे। जब हम टैक्स नहीं भरते तो सरकार के पास पैसा नहीं होता और यही वजह है की कुछ समय बाद चीज़ो के दाम बढ़ा दिए जाते है और उससे हमारे देश में महंगाई हो जाती है इसीलिए टैक्स को जरूर भरे क्योकि आपका थोड़ा सा भरा हुआ टैक्स बाद में आपको ही फायदा करता है।
  2. टैक्स भरने से हमारे देश का विकास होता है। अपने अनुसार अगर हम टैक्स भरेंगे और हमे देखकर बाकि लोग भी टैक्स भरेंगे तो सरकार के पास पैसा आएगा जिससे आगे चलकर हमारे ही देश का विकास होगा।
  3. TDS केवल आपकी सैलरी पर ही नहीं लगाया जाता। आप बाजार से कुछ सामान खरीदते हो, आपकी प्रॉपर्टी, आपकी इनकम आदि कुल मिलाकर हर व्यक्ति को अपने अनुसार टैक्स भरना होता है जो सरकार और आम आदमी दोनों के लिए ही फायदेमंद होता है।

TDS की दरे

TDS की दरे हर व्यक्ति की अलग होती है इन्हे तय करने के कुछ नियम और कानून अलग होते है। जैसा की इनकम टैक्स तो सभी लोग पेय करते है उसी के अनुसार आपकी सालाना और मंथली इनकम के अनुसार की आपका TDS कैलकुलेट किया जाता है जो हर व्यक्ति को अलग देना पड़ता है। अगर आप बैंक में आरडी या फिक्स डिपाजिट जमा करते है तब उसपर भी आपको TDS जमा करना पड़ता है ये बात अलग है की वो TDS आपके पैसो के अनुसार लिया जाता है इसमें ऐसा कुछ नहीं है की कम आय वाले व्यक्ति से ज्यादा टैक्स लिया जाये या ज्यादा आय वाले से कम। सभी का टैक्स उनकी आय के अनुसार ही तय किया जाता है।

अगर आप इस प्रोसेस में आपका पैन कार्ड जमा करते है तो आपकी जो दर होगी वो 10 फीसदी की जाएगा इसके अलावा अगर आपके पास पैन कार्ड नहीं है और आप उसे जमा भी नहीं करते तो आपकी दर 20 फीसदी हो जाएगा। एक खास बात और 30,000 से कम पैसो पर कोई TDS नहीं काटा जाता। वो व्यक्ति इससे मुक्त होता है। TDS के और भी कुछ नियम और कानून सरकार ने आम आदमी की हालत देखते हुए उनके फायदे के लिए ही बनाये है जिनका हमे सम्मान करना चाहिए और अपने अनुसार TDS का भुगतान करना चाहिए।

जैसा की अब आपके पास TDS की पूरी जानकारी है तो आपको किसी भी तरह की चिंता करने की जरुरत नहीं है। आपको अपनी आय के अनुसार खुद ही पता लग जाएगा की आपको यह टैक्स भरना है या नहीं भरना और अगर भरना है तो किन दरो के अनुसार। आजकल बहुत से ऐसे फ्रॉड लोग भी है जो आपको थोड़े कम पैसो का लालच देकर विश्वास दिलाते है की वो आपकी टैक्स ना भरने में मदद करेंगे पर आपको किसी की भी बातों में आने की जरुरत नहीं है टैक्स आपका और सरकार दोनों का ही अधिकार है। सरकार आपसे जो भी टैक्स लेती है वो बाद में आपके ही काम आता है कुल मिला कर देखा जाये तो इसमें फायदा आपका ही है तो कभी भी टैक्स की चोरी ना करे। इसी टैक्स से हमारा और हमारे देश का विकास होता है तो अपने अनुसार इसे समय पर जरूर दे जिससे आगे चलकर आपका फायदा हो सके।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*