WHAT IS PIXEL IN HINDI – पिक्सेल क्या है, इसको कैसे मापते हैं




WHAT IS PIXEL IN HINDI - पिक्सेल क्या है, इसको कैसे मापते हैं

आज हम चारो तरफ से टेक्नोलॉजी से घिरे हुए है। चाहे वो लैपटॉप हो या कंप्यूटर, led हो या कैमरा हमारे पास बहुत तरह की सुविधाएं है। लेकिन जब भी बात आती है स्मार्ट फ़ोन यानि की मोबाइल फ़ोन की तो हमे उसमे सबसे बेस्ट उसकी डिस्प्ले और उसका कैमरा चाहिए होता है। कोई भी व्यक्ति सबसे पहले फ़ोन में यही दोनों चीज़ चेक करता है उसके बाद ही तय करता है की फ़ोन कैसा है। अब हम बात करे कैमरा की तो हमे सबसे पहले जो चीज़ देखनी चाहिए वो है इसके पिक्सेल। कैमरा के पिक्सेल पर ही उसकी इमेज की क्वालिटी निर्भर करती है। जितनी अच्छी और ज्यादा पिक्सेल का हमारा कैमरा होगा उतनी ही अच्छी हमारी फोटो आएगी और हम सभी को बड़े गर्व से अपना फ़ोन दिखा सकेंगे।

पिक्सेल क्या है

पिक्सेल को पिक्चर एलिमेंट भी कहा जाता है। बहुत सारे छोटे छोटे डॉट्स से मिलकर एक स्क्रीन तैयार होती है और इन्ही छोटे छोटे डॉट्स को पिक्सेल कहा जाता है। जब हम एक मैट्रिक्स में लाखो करोड़ो पिक्सेल को डालते है तब एक स्क्रीन तैयार होती है। बहुत सारे पिक्सेल एक साथ जुड़ जाते है तो एक पिक्चर बनाते है जो की हमारी स्क्रीन पर दिखाई देती है। पिक्सेल का साइज बहुत ही छोटा होता है। किसी भी तरह की फोटो हो या चित्र वो पिक्सेल की मदद से ही बना होता है। जितनी ज्यादा और अच्छी पिक्सेल होती है हमारी फोटो उतनी ही साफ और अच्छी दिखाई देती है। अपने शायद सुना भी होगा जितना पिक्सेल का आपका कैमरा होता है उतनी ही साफ और क्लियर आपकी पिक्चर आती है। हर एक पिक्सेल की इंटेंसिटी अलग होती है इसीलिए पिक्चर भी अलग होती है।

पिक्सेल का पता कैसे करे:

पिक्सेल को मापना बहुत ही आसान है। जितने अच्छे पिक्सेल का कैमरा और जितनी अच्छी आपकी पिक्सेल होंगी आपकी फोटो उतनी ही साफ दिखाई देती है।

पिक्सेल पता करने का तरीका– 1152*864 = 10 लाख पिक्सेल= 1 मेगा पिक्सेल

1600 *1200= 20 लाख पिक्सेल= 2 मेगा पिक्सेल

हमारी पिक्चर की क्वालिटी में फर्क केवल पिक्सेल से ही नहीं आता है। सेंसर भी फोटो की क्वालिटी ख़राब या अच्छी कर सकता है। अगर आपका कैमरा ज्यादा पिक्सेल का है लेकिन आपका सेंसर छोटा है तब भी आपकी फोटो अच्छी नहीं आएगी। इसीलिए कैमरे में पिक्सेल के साथ सेंसर का भी ध्यान रखे।

जब भी हम रंगीन पिक्सेल की बात करते है तो उसमे तीन रंगो का इस्तेमाल किया जाता है। रेडग्रीनब्लू इन्हे RGB भी कहा जाता है। इसकी जरुरत हमारी पिक्सेल जो किसी भी रेंज में हो उन्हें चमकाने के लिए जरुरत पड़ती है। सभी मोबाइल फ़ोन की पिक्सेल्स अलग अलग होती है यह हम पर निर्भर करता है की हम किस क्वालिटी की पिक्सेल का मोबाइल खरीदे। कुछ में लो पिक्सेल होती है तो कुछ में हाई। ज्यादातर मोबाइल फ़ोन 320X480 पिक्सेल के होते है। इनमे बहुत ही कम एरिया में बहुत सारी पिक्सेल के ही जगह आजाती है जिससे हमारे लिए किसी एक पिक्सेल को देखना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। जब भी आप कोई कैमरा या मोबाइल फ़ोन को बाजार से खरीदने जाये तो उसकी पिक्सेल एक बार जरूर जांच ले। जैसा की अब आपके पास पिक्सेल के बारे में भरपूर जानकारी है तो आपको इस जानकारी का फायदा उठाना चाहिए और अपने लिए अच्छी चीज़ लानी चाहिए।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*