बच्चो को ट्यूशन के फायदे और नुकसान

आज जिस सोसाइटी और माहौल में हम लोग रह रहे है उसमे ट्यूशन जरुरत से ज्यादा एक फैशन बन गया है। कुछ लोग तो जरुरत के लिए ट्यूशन लगाते है लेकिन कुछ लोग इसे फैशन या हिरस की तरह। उन्हें लगता है अगर उनके दोस्त या पडोसी का बच्चा ट्यूशन पढता है तो उनके बच्चे को भी जरूर पढ़ना चाहिए। आपके इस कम्पटीशन के चक्कर में क्या अपने कभी अपने बच्चे से यह पूछा है की वो क्या चाहता है या उसे ट्यूशन की जरुरत है या नहीं। हम लोग ऐसा नहीं रकते है हम लोगो को लगता है की बिना ट्यूशन के तो हमारा बच्चा पढ़ ही नहीं सकता है या कुछ कार्य नहीं कर सकता है। हमारी इसी सोच और दबाव में हमारा बच्चा फस जाता है जिसका अंजाम हमे समय रहते देखने के लिए मिल जाता है। हम यह नहीं बोल रहे की ट्यूशन अच्छी चीज़ नहीं है। यह अच्छा है फायदेमंद भी है लेकिन तब जब आपके बच्चे को इसकी जरुरत हो या उसे किसी चीज़ की समस्या हो। किसी की देखा देखी या हिरस में ट्यूशन लगाना सिर्फ अपने पैसे बरबाद करना और अपने बच्चे को परेशान करना है और कुछ नहीं। आजकल ट्यूशन की वजह से बच्चो को अपने लिए बिलकुल भी समय नहीं मिलता है। यही उम्र होती है इनकी खेलने की मस्ती करने की और कुछ मजे करने की लेकिन इन सबके लिए उन्हें समय ही कहा मिलता है स्कूल से बच्चे सोचकर आते है आज घर जाकर खेलेंगे या कुछ और करेंगे लेकिन घर आते ही कुछ देर के बाद उन्हें ट्यूशन जाना पड़ता है और वहा से आकर बच्चे इतने थक जाते है की फिर कुछ भी करने की हिम्मत नहीं होती। ऐसे में उनकी यह खेलने की उम्र निकल जाती है। कुछ माता पिता तो अपने बच्चे को ट्यूशन केवल इसीलिए भेजते है क्योकि वो उन्हें घर पर परेशान करते है वो सोचते है चलो इसी बहाने हमे थोड़ा और समय मिलेगा। लेकिन अपने इस फायदे में वो यह भूल जाते है की हम अपने बच्चे का कितना नुकसान कर रहे है। इन्ही सब बातों को ध्यान में रखते हुए आज हम आपके लिए लाये है ट्यूशन के कुछ फायदे और नुकसान जो आपकी ट्यूशन के बारे में थोड़े विचार बदल देंगे और आपको समझ आएगा की ट्यूशन का क्या महत्व है और क्या नहीं।

ट्यूशन के फायदे

  1. अच्छे नंबर आते है ट्यूशन के माध्यम से बच्चो को स्कूल से अधिक समय और ज्ञान मिलता है जो उनकी अच्छे नंबर लाने में मदद करता है। उन्हें स्कूल में तो पढ़ाया ही जाता है साथ ही ट्यूशन से उन्हें कुछ ज्यादा और अलग सिखने के लिए मिलता है जो उन्ही की पढाई और ज्ञान के लिए अच्छा है। ट्यूशन में कुछ अलग और नयी बातें भी सिखाई जाती है जो बहुत फायदा करती है।
  2. बच्चो का कॉन्फिडेंस बढ़ता है ट्यूशन का एक सबसे बड़ा फायदा यह भी है की इससे बच्चो का कॉन्फिडेंस और आत्मविश्वास बढ़ता है। उन्हें वहा पढाई तो करनी ही होती है साथ ही एक ग्रुप में जुड़े रहना, सब काम समय पर करना, नयी चुनौतियों का सामना करना आदि भी उन्हें सिखने के लिए मिलता है जो उनके भविष्य के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता है।
  3. नया सिखने को मिलता है आजकल स्कूल में केवल वो ही पढ़ाया जाता है जो बच्चो की किताबो में लिखा होता है इसी वजह से बच्चा के किताबी कीड़ा बनकर रह जाता है। ट्यूशन में आपको टीचर किताबो में लिखा हुआ तो सिखाता ही है साथ ही आपको बहुत सी नयी और अलग चीज़े भी सिखाता है जो आपके लिए फायदेमंद होती है। ट्यूशन से आप पढाई के अलावा भी बहुत कुछ सिख सकते है।
  4. मिलता है एक्स्ट्रा ज्ञान ट्यूशन से आपको बहुत तरह का एक्स्ट्रा ज्ञान भी मिलता है जिसकी आजकल सभी को बहुत जरुरत होती है। आपको आपके स्कूल या कॉलेज में होने वाले एग्जाम के बारे में कुछ दिन पहले ही पता लग जाता है तो आप ट्यूशन के माध्यम से उसकी तैयारी पहले ही कर सकते है जिससे आपको अच्छे मार्क्स लाने में मदद मिले और आप अपनी मंज़िल को आसानी से हासिल कर सके।

ट्यूशन के नुकसान

1. बहुत तरह का तनाव और चिंता ट्यूशन के नुकसान की बात की जाये तो ट्यूशन से बच्चा बहुत सी चिंता, तनाव और टेंशन से घिर जाता है जिसकी वजह से वो खुश नहीं रह पाता। आजकल बच्चो में अच्छे मार्क्स लाने को लेकर बहुत भागदौड़ है जिसके चलते वो एक्स्ट्रा पढाई के लिए ट्यूशन का सहारा लेते है जिससे वो चिंता और परेशानी से घिर जाते है।

2. टाइम की खराबी आजकल बहुत से ट्यूशन ऐसे भी जहा सिर्फ बच्चो का टाइम बर्बाद किया जाता है। उनको अपनी फीस तो हमेशा समय पर चाहिए होती है लेकिन पढ़ाने के नाम पर वो केवल आपका समय ही खराब करते है। इससे आपके कीमती समय के साथ आपके कीमती पैसो की भी बरबादी होती है जो आपके और आपके बच्चो के लिए बिलकुल भी सही नहीं है।

3. बच्चो का बचपन खो जाता है बच्चे सारा दिन स्कूल में पढाई करने के बाद घर आकर कुछ देर आराम या खेलना पसंद करते है लेकिन ट्यूशन की वजह से उन्हें यह सब करने का समय नहीं मिलता है। सुबह उठकर पहले स्कूल और फिर शाम को ट्यूशन ऐसे में बच्चो को अपनी ज़िन्दगी ज़ीने का या अपने खेल कूद का समय नहीं मिलता जिससे उनका बचपन इन सब के बीच कही खो जाता है।

4. ट्यूशन के कमाई का साधन आजकल के दौर को देखते हुए यह हम सभी जानते है ट्यूशन पढाई का तो बाद में केवल एक कमाई का ही साधन बन गया है। टीचर ने सभी ट्यूशन की फीस इतनी ज्यादा बढ़ा दी है की आम आदमी के लिए अपने बच्चे को पढ़ाना जैसे एक जंग बन गया है और जिसे जीतना बहुत ही मुश्किल काम हो गया है।

ऊपर दिए गए ट्यूशन के सभी फायदे और नुकसान को पढ़े और उसी के अनुसार अगर आपके बच्चे को जरुरत है तो ही उसे ट्यूशन भेजने का विचार बनाये वरना बच्चो को भी उनकी ज़िन्दगी ज़ीने का मौका जरूर दे यह दोनों के लिए ही लाभदायक होगा।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here