Piles Treatment at Home in Hindi | बवासीर के कारण व घरेलु उपचार




Piles Treatment at Home in Hindi | बवासीर के कारण व घरेलु उपचार

पाइल्स यानि की बावसीर आजकल बहुत बड़ी समस्या हो गई है इस बीमारी का मुख्य कारण यह है कि आपके खान-पान में कमी, बवासीर में होने वाला दर्द बहुत ही असहनीय होता है.

बवासीर दो तरह का होता है एक होता है एक होता है बाहरी, भीतरी वाले में अंदुरुनी रक्तचाप होता है जिसमें कि दर्द का पता नहीं लगता और बाहरी वाले में दर्द बहुत ज्यादा होता है.

बवासीर मलाशय के आसपास की नसों की सूजन के कारण होता है इसमें को देख में सूजन की वजह से काफी पीड़ा होती है.

बवासीर होने के कारण

  1. खानपान का सही न होना,
  2. वंशानुगत,
  3. फाइबर की कमी के होने के कारण
  4. फिर कब्ज की समस्या के कारण
  5. फिर लंबे समय तक कहीं एक जगह बैठे रहने के कारण

यहाँ हम आपके लिए लाएं हैं बवासीर के 8 घरेलु नुश्खे व उपचार, यह घरेलु नुश्खे आपको बवासीर में सहायता कर सकते हैं

1. बाबासिर से निजात पाने के लिए सबसे गुणकारी है एलोवेरा, एलोवेरा को आप ले ले उस के पत्तों में से साइड के कांटों को निकाल दें और उस को फ्रिज में रख दें एलोवेरा के ठंडे होने के बाद उसको बाबासीर वाली प्रभावित भाग पर लगाएं जिससे कि यह आपकी हो रही जलन और सूजन को बहुत कम कर देगा .

2. नींबू के उपयोग से बाबासीर का निजात पाया जा सकता है आप इसका उपयोग एक नींबू के रस निकाल ले और उसमें थोड़ा सा अदरक और अपने स्वाद के लिए थोड़ा सा शहद मिला लें और इसका सेवन कर ले चार-पांच दिन तक आप इसके से लगातार सेवन करने के बाद आपको इसमें बहुत राहत मिलेगी .

3. ज्यादा से ज्यादा फाइबर भोजन करें फाइबर वाला इसमें पोषक तत्व मल को नरम करने में मदद करते हैं जिससे की आपके आंतो की प्रणाली साफ सुथरा रखने में यह सहायता प्रदान करता है .

4. नाशपति सब्जियां और बीज को खाने से आपको फाइबर प्राप्त होगा जिससे कि बवासीर सिर्फ खत्म हो जाएगा

5. आंवले का प्रयोग करें आंवला बाबासीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है जितना ज्यादा हो सके आमले का मुरब्बा, अचार, उसका चूर्ण को सुबह-शाम खाएं .

6. ज्यादा से ज्यादा दही खाने से भी बावसिर से निजात पाया जा सकता है .

7. नीम के पत्ते को सोने से पहले एक बर्तन में भिगो दें और सुबह उठकर उसके पानी का सेवन कर लें जैसे कि बावासीर जैसी बीमारी आपसे दूर हो जाएगी .

8. शाम को किसमिस का उपयोग करें किसमिस को रात को भिगो दें और सुबह उठकर उस भीगी हुई किशमिश को खा लें जिससे की बावासिर से जल्दी छुटकारा मिल जाएगा.




1 Trackback / Pingback

  1. Ajwain Benefits in Hindi - अजवायन के 7 गुण एवं लाभ

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*