Register Now

Login

Lost Password

Lost your password? Please enter your email address. You will receive a link and will create a new password via email.

एंटी रोमियो स्क्वॉड क्या है? इसका मतलब और उद्देश्य

एंटी रोमियो स्क्वॉड क्या है? इसका मतलब और उद्देश्य

उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बने अभी कुछ दिन ही हुए थे की वहाँ के मुख्यमंत्री योगी ने एक बड़ा एक्शन लिया है। उन्हने अपने घोषणापत्र में किए गए वादों पर अमल करना शुरू कर दिया है। ऐसे ही किये गए एक वादे के मुताबिक उन्हने एक स्कीम तैयार की है जिसे नाम दिया गया है ‘एंटी रोमियो स्क्वॉड’ इस स्कीम के अन्तर्गत महिलाओ और लड़कियों के साथ हुई छेड़ छाड़ पर तुरंत कार्यवाही की जाएगी और दोषी को कड़ी से कड़ी सज़ा भी दी जाएगी। इसमें यूपी के 11 जिलो में यह एंटी रोमियो स्क्वॉड शुरू किया जाएगा जिसे उस छेत्र के आई जी मॉनिटर करेंगे। इससे सभी महिलाओ और लड़कियों को सुरक्षा प्रदान की जाएगी और तुरंत कार्यवाही भी होगी। इसके अलावा बलात्कारियों और छेड़ छाड़ के आरोपियों पर गुंडा एक्ट लगाने का भी आदेश दिया गया है। यह एंटी रोमियो स्क्वॉड स्कीम महिलाओ की सुरक्षा के लिए बहुत फायदेमंद है।

एंटी रोमियो स्क्वॉड का मतलब क्या है ?

एंटी रोमियो स्क्वॉड का हिंदी में मतलब है एक ऐसी टीम या दल जो रोमियो को रोके। आजकल जो लड़कियों से छेड़छाड़ करने वाले रोमियो सड़क पर घूमते रहते है जिन्होंने लड़कियों का सड़क पर निकलना मुश्किल कर दिया है उन्ही को रोकने के लिए मुख्यमंत्री योगी ने यह एंटी रोमियो स्क्वॉड बनाया है। जो सभी महिलाओ और लड़कियों को सुरक्षा प्रदान कर सके। किसी भी जगह पर कोई भी लड़का हरकत करता हुआ पाया गया तो उसपर सख्त कार्यवाही होगी और उसे सजा भी मिलेगी। यह अभियान उत्तर प्रदेश है के 11 जिलो में होगा जिसका नतीजा हमे जल्द ही देखने को मिलेगा।

एंटी रोमियो स्क्वॉड बनाने का उद्देश्य ?

एंटी रोमियो स्क्वॉड को बनाने के पीछे यूपी की सरकार का बस एक ही मकसद है की वो उत्तर प्रदेश से दंगा, छेड़छाड़, गुंडागर्दी जैसे खतरनाक क्राइम्स को बंद कर सके और बाकि राज्यो की तरह यूपी की अलग पहचान बना सके। जैसा की हम सब जानते है की यूपी को एक क्राइम स्टेट कहा जाता है 14 साल के बाद यह भाजपा की सरकार आई है और उनका मकसद यूपी को उन सभी क्राइम्स से आजाद करना है। योगी का कहना है की एंटी रोमियो स्क्वॉड सरकार की एक शुरुवात है। आगे और भी ऐसे एक्शन लिए जाएंगे जिससे यूपी का सुधार हो सके। यूपी की महिलाओ का कहना था की उनका घर से निकलना मुश्किल हो गया था वो बाहर निकलते वक्त सोचा करती थी की सही सलामत घर आ भी पाएंगे या नही। यूपी में सरकार बनने से पहले इस चीज़ का वादा किया गया था की महिलाओ की सुरक्षा का अच्छा इंतेज़ाम किया जाएगा इसी वादे को पूरा करने के उदेश्य से यह एंटी रोमियो स्क्वॉड को यूपी में लागू किया गया है।

एंटी रोमियो स्क्वॉड किसने लांच की?

एंटी रोमियो स्क्वॉड को उत्तर प्रदेश की नये मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को लांच किया। एक प्रेस कांफ्रेंस के जरिये उन्होंने इस स्कीम के बारे में जनता को बताया। इलेक्शन के समय उन्होंने वादा किया था की अगर उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आई तो वो कोई ना कोई कदम महिला सुरक्षा के लिए जरूर उठाएंगे और उन्होंने सरकार बनने के कुछ ही दिन बाद अपना वादा पूरा किया। योगी ने बताया है की उत्तर प्रदेश के 11 जिलो में एंटी रोमियो स्क्वॉड बंनने जा रही है जो स्पेशल टीम के अंडर रहेगी। उन्होंने यह भी बताया है की महिला पुलिस की स्पेशल टीम भी तैयार की जाएगी जो आपकी मदद के लिए हमेशा तैयार रहेगी। स्कूल, कॉलेज और अन्य जगाहों पर अगर कोई लड़का किसी भी तरह की छेड़छाड़ करता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ तुरंत कार्यवाही की जाएगी और उसे कड़ी से कड़ी सज़ा भी मिलेगी। ऐसा करने से महिलाओ को सेफ महसूस होगा और वो जब चाहे अपने घर से बिना डरे बाहर जा सकती है।

निष्कर्ष:

एंटी रोमियो स्क्वॉड स्कीम सुनने में तो बहुत अच्छी लग रही है देखना यह है की उत्तर प्रदेश जैसे क्राइम स्टेट में इसका क्या नतीजा होगा और यह स्कीम कितना काम करेगी। अगर देखा जाए तो योगी की सरकार अपने काम में लग गई है और अगर उनकी यह स्कीम सही काम करती है तो वह दिन दूर नही जब यूपी में भी महिलाये खुद को सुरक्षित महसूस करेंगी और इन सभी रोमियो को एक अच्छा सबक भी मिलेगा। एंटी रोमियो स्क्वॉड से ना केवल क्राइम कम होगा बल्कि और भी लोगो पर इसका असर होगा। प्रदेश में बलात्कार, छेड़छाड़, गुंडागर्दी जैसे खतरनाक क्राइम भी कम हो जाएंगे और शायद उत्तर प्रदेश से क्राइम स्टेट का टैग भी हट ही जाए। अगर उत्तर प्रदेश की जनता भी अपने प्रदेश का सुधार चाहती है तो उन्हें भी सरकार का सहयोग करना होगा और शायद सरकार का उदेश्य पूरा ही हो जाए।