10 Fast Pregnancy Tips in Hindi | जल्दी एवं आसान तरीके प्रेग्नेंट होने के

10 Fast Pregnancy Tips in Hindi | जल्दी एवं आसान तरीके प्रेग्नेंट होने के

हर महिलाएं यह चाहती है कि वह जिंदगी में एक बार मां बनी क्योंकि हर महिला की दिल से यही इच्छा होती है, कि वह एक बार गर्भ धारण करें, क्योंकि एक मां को उतनी ही प्रसन्नता होती है जब उसका बच्चा जन्म लेता है तो वह जिंदगी की सारी खुशी उसे मिल जाती है, क्योंकि एक मां अपने बच्चे को 9 महीने गर्भ में रखने के बाद कितनी परेशानियों को झेलने के बाद उसको पाती है आपको बताएंगे कि शादी के बाद आप अपनी पत्नी को कैसे और कितना जल्दी ही गर्भधारण करवा सकते हैं.

10 Fast Pregnancy Tips in Hindi | जल्दी एवं आसान तरीके प्रेग्नेंट होने के

आजकल बहुत सी समस्या सामने आई है कि शादी के एक साल बाद भी कई महिलाओं को गर्भधारण नहीं होता है तो आज हम आपको बताएंगे कि कैसे और कितना जल्दी गर्भ धारण किया जा सकता है.

1. मासिक धर्म के शुरुआती दिनों में अगर सेक्स किया जाए तो गर्भ बहुत जल्दी धारण किया जा सकता है .

2. सबसे जरूरी बात है गर्भ धारण करने के लिए महिला और पुरुष दोनों को ही तनाव से मुक्त होना चाहिए, क्योंकि अगर तनाव् रहेगा दोनों के बीच में तो सेक्स का मजा किरकिरा हो जाएगा और गर्भ ठहरने की समस्या रहेगी .

3. ज्यादा से ज्यादा शारीरिक संबंध बनाएं .

4. अपने अंडकोष और लिंग पर कभी भी गर्म पानी ना डालें ना उसको कभी गर्म पानी से धोएं और कभी भी बाथरूम में गर्म पानी से नहीं नहाए.

5. सबसे जरूरी बात किया आप नशा ना करें अगर कोई भी आप नशा करेंगे इससे आपकी सेक्स की पावर बहुत कम हो जाती है .

6. हमेशा ही आप कभी भी गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग ना करें क्योंकि इससे फिर गर्भधारण नहीं किया जा सकता .

7. सबसे ज्यादा हो सके फल सब्जियां हरी सब्जियां दाल विटामिन और प्रोटीन वाली चीजें ज्यादा से ज्यादा खाएं .

8. एक ही दिन में दो तीन बार शारीरिक संबंध बनाए हमेशा जब भी शारीरिक संबंध बनाए तो महिला और पुरुष दोनों को ऐसा होना चाहिए कि उन दोनों के बीच में गहरा संबंध प्रस्थापित कर पाए .

9. महिला को सेक्स करने के बाद सीधे लेट जाना चाहिए जिससे कि पुरुष से संकरण महिला के बीज तक पहुंच सके .

1o. हमेशा संबंध बनाने के लिए मासिक धर्म का योग समय देखकर ही करें.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*